लवक – हरित लवक, वर्णीलवक, अवर्णीलवक की संरचना | Plastid in Hindi

लवक – हरित लवक, वर्णीलवक, अवर्णीलवक की संरचना | Plastid in Hindi : लवक केवल पौधों के कोशिका में पाया जाता है। यह कोशिका में पाये जाने वाले सभी कोशिकांगों में बड़ा होता है। लवक में खास वर्णक (Pigment) पाये जाते है। वर्णकों के आधार पर लवक तीन प्रकार के होते है- हरित लवक __(Chloroplast) वर्णीलवक (Chromoplast) तथा अवर्णीलवक (Leucoplast)

Read Also

  1. भारत के सभी प्रमुख झीलें | Lakes Of India In Hindi
  2. गुरुत्वाकर्षण बल नोट्स | Gravitational Force Notes In Hindi
  3. Work Energy And Power Notes In Hindi / कार्य, ऊर्जा और शक्ति नोट्स हिंदी में
  4. परमाणु संरचना नोट्स | Atomic Structure Notes In Hindi

हरित लवक (Chloroplast)

यह सबसे महत्वपूर्ण लवक है, इस लवक में क्लोरोफील वर्णक (Chlorophyll Pigment) पाये जाते हैं जिसके चलते प्रकाश संश्लेषण की क्रिया पौधों में सम्पन्न हो जाती है।

हरित लवक मुख्यतः हरी पत्तियों के मेसोफिल कोशिका में पाया जाता है। सभी कोशिकाओं के हरित लवक प्रकाश सूक्ष्मदर्शी से देखने पर समान नहीं दिखाई पड़ते है। एक कोशिका में 1 से लेकर 80 तक हरित लवक हो सकते है, जिसकी व्यास 4-10pm तथा मोटाई 3-4 pm तक होती है।

हरित लवक का जब प्रकाश सूक्ष्मदर्शी द्वारा अध्ययन हुआ तो इसकी संरचना कुछ इस प्रकार निर्धारित हुई-

हरित लवक दुहरी चिकनी झिल्ली से घिरी होती है। यह दुहरी झिल्ली पारगम्य होती है तथा प्रोटीन से बनी होती है। दुहरी झिल्ली से घिरा हुआ तरलयुक्त गुहा (Cavity) को Stroma ( स्ट्रोमा) कहते है। Stroma में महीन झिल्लीदार संरचनाओं को Stroma lamelle कहते है। Stroma lamelle के बीच-बीच चपटी एवं वृत्ताकार थैली एक समूह में व्यवस्थित रहते हैं जिसे Thylakoid कहते है। Thylakoid प्रोटीन एवं लिपिड का बना होता है। Thylakoid के समूह को Granum कहा जाता है। Thylakoid नामक थैली में ही क्लोरोफील पाया जाता है। क्लोरोफील अणुओं के समूह को Quantasome भी कहा जाता है।

हरित लवक प्रकाश संश्लेषण क्रिया के केन्द्र है और यह सिर्फ प्रकाश-संश्लेषी पौधों में ही पाया जाता है।

वर्णी लवक (Chromoplast)

इसे रंगीन लवक कहा जाता है, पौधों में हरे रंग के अतिरिक्त अन्य सभी रंगों के लिए वर्णी लवक ही उत्तरदायी होते है।

विभिन्न प्रकार के वर्णों लवक-

गाजर का नारंगी रंग – कैरोटीन

हल्दी का पीला रंग – जैन्थोफील

पपीते का पीला रंग – कैरिका जैन्थिन

टमाटर का लाल रंग – लाइकोपीन

सेव का लाल रंग – एन्थोसाइनीन

सभी रंगों के लिए उत्तरदायी वर्णी बलक वसा में घुलनशील होते हैं तथा मुख्य रूप से फूलों तथा फलों में ही पाये जाते है।

गौरतलब है कि हरित लवक वर्णों लवक के रूप में परिवर्तित हो सकते हैं तथा वर्णों लवक हरित लवक में तीनों प्रकार के लक्क आपस में परिवर्तित हो सकते है।

अवणी लवक (Leucoplast)

यह लचक पौधों के उन भागों के कोशिका में पाये जाते हैं जो सूर्य के प्रकाश से वंचित रहते है। जड़, भूमिगत तना (आलू, प्याज) में यह लवक मुख्य रूप से पाया जाते है।

यह लवक विभिन्न प्रकार के पोषक पदार्थों का संग्रह करती है। यह लवक कई प्रकार के होते हैं–

Amyloplast – स्टार्थसंग्रह करने

Proteinoplast – प्रोटोन संग्रह करने वाला

Aleuroplast – प्रोटीन संग्रह करने वाला

Elaioplast – वसा संग्रह करने वाला

Join Telegram Channel for Update
Share your love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *